सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं? Self Confidence बढ़ाने के 10 बेहतरीन तरीके

 आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं? Self Confidence बढ़ाने के 10 बेहतरीन तरीके



यदि जीवन को भरपूर जीना हो तो आत्मविश्वाश जरुरी है , यदि खुद की अलग पहचान बनानी है तो self confidence  जरुरी है स्कूल लाइफ से professional life  तक आत्मविश्वास की जरुरत होती है। जिन व्यक्तियों के अंदर आत्मविश्वास नही  होता वो तनावग्रस्त हो जाते हैं । उदास रहने लगते हैं उन्हें जीवन नीरस प्रतीत होने लगता है , कोई कार्य करने में मन नही लगता  है। जो व्यक्ति आत्मविश्वासी होतें है वो ही अपने जीवन को अपने अनुसार जीते हैं और अपने सपनो को पूरा करते हैं।




क्या होता है आत्मविश्वास  ? What is self confidence - 


आत्मविश्वास दो शब्दों से मिलकर बना है आत्म + विश्वास जिसका अर्थ होता है स्वयं पर विश्वास । यदि हम को अपने ऊपर विश्वास है तो वो हमारा आत्मविश्वास कह लायेगा। यदि आपको कोई ऐसा कार्य करने  के लिए बोला जाये जो आपने कभी नही किया । तो आपके पास  दो ऑप्शन होंगे या तो आप बोल दोगे की आप वो कार्य नही कर सकते क्योंकि अपने पहले कभी नही किया । दूसरा ऑप्शन आप बोलो की मैंने ये कार्य पहले कभी नही किया पर मैं कोशिश कार्य को करने की कोशिश जरूर करूँगा।

जब आप first option चुनते हैं तो ये आपके आत्मविश्वास की कमी को बताता है । इस attitude से आप लाइफ में कुछ खास नही कर सकते । पर जब आप second option चुनते हैं तो ये आपके आत्मविश्वास को व्यक्त करता है। आप इस attitude से जीवन में हमेशा बेहतर कर सकते हैं


आत्मविश्वास और अति आत्मविश्वास में अंतर - 


जहाँ आत्मविश्वास हमें जीवन में सफल बनाता है उसके विपरीत अतिआत्मविश्वास ( over confidence)  हमे ले डूबता है। दोनों में बहुत महिम अंतर है इसलिए ज्यादतर लोग over confidence को confidence समझने लगते हैं। 

"यदि आपको लगता है कि आप किसी कार्य को कर सकते हैं तो ये आपका आत्मविश्वास है ।"

" यदि आपको लगता है कि किसी कार्य को आप ही कर सकते हैं ।आपके अलावा कोई और उस कार्य को नही कर सकता। यो ये आपका अतिआत्मविश्वास ( over confidence) है।"


आत्मविश्वास बढ़ाने के 10 बेहतरीन तरीके -


1.सकारात्मक सोच ( Positive thinking ) - 


हमेशा पॉजिटिव सोच रखें । जब हम किसी subject के बारे में सकारात्मक सोचते हैं तो हमे एक ख़ुशी महसूस होती । हमारा mind भी हमारी सोच के अनुसार ही कार्य करता है । जब हम सोचते हैं कि मैं ये कार्य सकता हूँ तो mind भी उसी तरह set हो जाता है। और हम उस कार्य को आसानी से कर सकते है । जिससे हमारा confidence और बढ़ता है।


2.  बढ़े लक्ष्य को छोटे छोटे लक्ष्य में तोड़कर पूरा करें - 


जब हमारे पास कोई बड़ा लक्ष्य होता है तो हमारा आत्मविश्वास कमजोर होने लगता है। जैसे यदि  हम ये सोचे की आज हमें 5 घंटे regular पढ़ना है । तो हम थोड़ा देर सही तरीके से पढ़ पाएंगे और हमारा mind हमे अहसास दिलाने लगेगा कि ऐसा करना कठिन है । वही यदि हम इन 5 घण्टो को पांच भाग में बाँट दे अर्थात सोचे कि सिर्फ अभी 1 घंटा पढ़ना है तो हमारे दिमाग को ये बहुत आसान लगेगा और हम इस target को आसानी से पूरा कर लेंगे। इस प्रकार हम एक एक घंटे पढ़कर अपने 5 घण्टे के target को आसानी से पूरा कर सकते हैं। इससे हमारा confidence बढ़ता है।



3. कार्य को एक निश्चित समय में पूरा करें -


 जो भी कार्य करना है उसके लिए पुर्व में ही एक समय निश्चित कर लें और उस कार्य को निर्धारित समय में ही पूरा करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो कुछ ही दिनों में इसका अद्भुत असर आपके जीवन में दिखना शुरू हो जायेगा ।


4. खुद को स्वीकार करना सीखें -


यदि आप मोटे हैं या काले है या जैसे भी है आप best है अपनी तुलना दूसरों से करना बंद करें। जब हम अपनी तुलना दूसरों से करते हैं और दूसरों को अपने से बेहतर मानने लगते है । जिससे हमारा आत्मविश्वास अपने ऊपर कम होने लगता है। 


5.  दिखावे से दूर रहें - 


बहुत सारे लोगो वो दिखाने की कोशिश करते हैं जो हकीकत में वो नही होते। कुछ लोग अपने आपको अमीर दिखाने के लिए बहुत सारा दिखावा करते हैं। जब आप दिखावा करते हैं तो सामने वाले को भी आपकी हकीकत पता होती है। अंत में ऐसा करना आपके आत्मविश्वास को चोट पहुँचता है। आप जैसे है वैसे ही बने।


6. खुद की इज्जत करें


कहा गया है कि " जब तक आप अपनी इज्जत नही करेंगे। तब तक दुनिया आपकी इज्जत नही करेगी।" 

अपने बारे में कभी भी बुरा भला न कहें जैसे मैं पढ़ने में कमजोर हूँ , मेरी तो किस्मत ही ख़राब है , मुझे से ये काम नही हो पायेगा, मुझे तो कोई पसन्द ही नही करता।



7. ड्रेसिंग पर ध्यान दें -


ड्रेसिंग का मतलब है कि आप जिस स्थान पर जैसी ड्रेसिंग की आवश्यकता हो वहाँ वैसे ही कपड़े पहने । जैसे आप ऑफिस जा रहे हैं तो फॉर्मल कपड़े ही पहने । यदि आप ऐसा करते हैं तो ये आपके confidence को निश्चत रूप से बढ़ाएगा।


8. अच्छी किताबें पढ़े -


किताबें पढ़ने की आदत डालें जब आप अच्छी किताबें पढ़ते है तो आपको अच्छा महसूस होता है । साथ ही साथ आपका ज्ञान भी बढ़ता है । और जब knowledge बढेगा तो confidence तो स्वतः ही बढ़ जायेगा।


9. Discussion में ज्यादा से ज्यादा भाग लें - 


किसी subject पर आपके school , collage या office में 

Discussion चल रहा हो तो उसमें जरूर भाग ले और अपने विचार रखें इससे बाकि लोग भी आपसे impress होंगे साथ ही साथ आपकी communication skills भी इम्प्रूव होगी।


10. नियमित प्रणायाम और व्यायाम करें -


जब रक हम स्वस्थ नही रहेंगे तब तक कुछ भी कर ले हमारा confidence नही बढ़ सकता। इसलिए सबसे ज्यादा प्राथमिकता अपने स्वस्थ को दें। देर रात तक न जागें जल्दी सोयें और सुबह जल्दी जागने की आदत विकसित करें। साथ साथ योगासन और व्यायाम को भी अपनी daily लाइफ में शामिल जरूर करें।


आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं? Self Confidence बढ़ाने के 10 बेहतरीन तरीके यदि ये पोस्ट आपको पसंद आयी हो तो को शेयर जरूर करें। हमारा उद्देश्य मात्र  व्यक्तित्व के विकास के लिए बेहतरीन से बेहतरीन जानकारी उपलब्ध कराना है। धन्यवाद!  

 






Popular Posts

कोरा ज्ञान ....एक emotional motivational कहानी

Hi दोस्तों आप हैं। प्रेणादायी chakhdey गौरव के साथ दोस्तों ज्यादतर हम लोग ऐसी शिक्षा प्राप्त करते हैं।जो सिर्फ किताबों तक सिमित होती है। एक तरह से पंगु बना देती है।हम आज इस टॉपिक पर विस्तार से बात करें।उससे पहले एक कहानी इस टॉपिक को खूबसूरत तरीके से बयाँ करती है।         एक बहुत बड़े पंडितजी रहते हैं।जिनकी ख्याति दूर- दूर तक फैली होती है।उनके प्रवचन सुनने के लिए लोग दूर -दूर से आते हैं।पंडितजी को इस बात का बड़ा घमण्ड रहता है।वो हमेशा अपनी तारीफ सुन्ना पसंद करते हैं ।एक बार सावन के महीने मे एक गांव मे भगवत कथा करनी होती है।पंडितजी के गांव और उस गांव के बीच एक बड़ी नदी बहती है ।जिसे नाव के द्वारा पर करना पड़ता है।पंडितजी शाम के समय नदी किनारे पहुचते है।वहां पर नाव चलने वाले मल्लाह को बुलाकर कहते हैं कि मुझे जल्दी नदी पर कर दो बहुत जरूरी काम है। मल्लाह हाथ जोड़कर बोलता है पंडितजी कुछ लोग और आजाएं तो मुझे थोड़ा फायदा हो जायेगा।पंडितजी गुस्से से लाल आंख करते हुए बोलते है मुर्ख तू जनता है मैं कौन हूँ।मेरा थोड़ा सा समय भी बहुत कीमती है।तू मुझ अकेले को नदी पर करायेगा तो मे तुझे किराया तो दू

Top motivational free book pdf in hindi

Top motivational free book pdf in hindi Top motivational free book pdf in hindi इस पोस्ट में मैं आपको उन most popular motivational book के बारे में बताऊंगा। जो आपके पूरे जीवन को ही बदल देगी। साथ में top motivational free book pdf in hindi downlod करने की link bhi दूँगा जहाँ से आप free में motivational free book pdf को आसानी से downlod कर सकते हैं।     बुक सदियों से इंसान की दोस्त रहीं हैं। किताबें हमारी ऐसी दोस्त हैं जो हमारा उस समय में भी साथ देती हैं जब सब हमारा साथ छोड़ देते हैं। ये गम में हमारे साथ रोती हैं तो वहीं खुशियों में खिलखिलाती भी हैं। ये हमें अच्छे बुरे में फर्क करना बताती हैं । हमारी हर उत्सुकता और सवाल का जवाब बढे सुन्दर ढंग से देती हैं। हम किताबों का साथ छोड़ सकते हैं पर ये हमारा साथ कभी नही छोड़ती हैं। जब जीवन में घोर निराशा का अँधेरा होता है तो books ही  उम्मीद की किरण जलाती है।       आज मैं आपको most popular aur selling motivational book के बारे में बता रहा हूँ। इन सभी बुक्स मैं ने स्वयं पढ़ा है और मैं   ये गारन्टी से कह सकता हूँ कि यदि आप इन बुक को पढ़ते ह

vivekanand story in hindi dhyan ki shakti

vivekanand story in hindi     दोस्तों आज मैं आपके साथ स्वामी विवेकानंद जी की जीवन की एक और प्रेणादायी कहानी  vivekanand story in hindi   शेयर कर रहा हूँ           बात शिकागो की है एक बार विवेकानंद अपने अनुनायियों के साथ टहलते हुए एक नदी के किनारे पर पहुँचे वहाँ पर देखते हैं कि कुछ लोग नदी मे बहने वाले अंडे के छिलकों पर बंदूक से निशाना लगा रहे हैं पर बहते हुए अंडो के छिलके पर किसी से भी निशाना नही लग रहा स्वामी जी ने कुछ देर यह सब देखा पर किसी से भी नदी मे बहते हुए अंडे के छिलकों पर निशाना नही लगा सब काफी मेहनत कर रहे थे स्वामी विवेकानंद अपने अनुनायियों के साथ उन बन्दों के पास गए जो निशाना लगा रहे थे और बोले की वह भी निशाना लगाना चाहते हैं जो निशाना लगा रहे थे उन्होंने आश्चर्य से स्वामी विवेकानंद को देखा क्योंकि वो एक सन्यासी के भेष मे थे और स्वामी विवेकानंद से पूछा की उन्होंने पहले कभीं निशाना लगया है तो स्वामी जी ने मुस्कुराकर जबाब दिया की के उन्होंने पहले कभी भी बन्दूक तक नही चलायी पर आज निशाना लगाना चाहते हैं जो निशाना लगा रहे थे उन्होंने स्वामीजी को अपनी बन्दूक दे दी विवेक